यह कौनसी शमा

यह कौनसी शमा के है पतेंगे देखलो |
यह मौत है या जिन्दगी क्या है सोच लो ||

मांगता है मुझसे कोई झोली पसारता ,
शरमा गई है जिन्दगी जिसको गरूर था |
दे रहे या पा रहे है कुछ तो देखलो |
यह मौत है या जिन्दगी क्या है सोच लो ||

मै देखता हूँ लुट रही आंसू भरी कहानी ,
पर परलौकिक तत्व पाकर धन्य हुई जवानी |
जल आँख का प्रस्तुत खड़ा न शेष देखलो |
यह मौत है या जिन्दगी क्या है सोचलो ||

आकांक्षाए अरमान है जो उठते प्राणों में ,
उलझी हुई है गुत्थियाँ जीवन के तारों में |

जो कुछ भी है वो तेरा है, सब कुछ भी देख लो |
यह मौत है या जिन्दगी क्या है सोचलो ||

स्व. श्री तन सिंह जी : १७ मई १९५२ दांता |

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


Comments :

0 comments to “यह कौनसी शमा”

Post a Comment

 

widget

Followers