कुण कुण रे कुण कुण रे

कुण कुण रे कुण कुण रे
कुण कुण है थारै हिवडै में साथी नाम बता हूं तिलक करूं
नाम बता हूं तिलक करुं |

एक तो मन में बस्यो सांवरियो जुग-जुग सूं मैं भजन करुं
नाम बता हूं तिलक करुं |

दूजा रजपूती रा आंटा ,जिण रा जाझा जतन करुं
नाम बता हूं तिलक करुं |

तीजो नाम लियो जद संघ रो, जंगळ जंगळ मगन फ़िरुं
नाम बता हूं तिलक करुं |

चौथौ है प्यारो केशरियो, झुक-झुक हूं सिर चरण धरूं
नाम बता हूं तिलक करुं |

धरती रा ठुकराया धणियां बाथां भर थानै वरण करूं
नाम बता हूं तिलक करुं |

अनमी म्हारी बाट बटाउडा, दुसमण नै भी सैण करूं
नाम बता हूं तिलक करुं |
२२ मई १९६७

असिस्टेंट कमान्डेंट राज्यश्री राठौड़ :राजस्थान की पहली महिला पायलट | Rajput World
ग्लोबल होता राजस्थानी साफा | ज्ञान दर्पण

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


Comments :

0 comments to “कुण कुण रे कुण कुण रे”

Post a Comment

 

widget

Followers